देश

उनकी सांठगांठ के चलते शराब माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही चन्नी सरकार : अहबाब ग्रेवाल

Table of Contents

उनके गठजोड़ के चलते शराब माफिया के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही चन्नी सरकार : अहबाब ग्रेवाल

आप पार्टी (फोटो क्रेडिट: सोशल मीडिया)

चंडीगढ़:

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के नेता और प्रवक्ता अहबाब ग्रेवाल ने कांग्रेस सरकार पर राज्य में शराब माफिया के खिलाफ दर्ज मामलों में जानबूझकर कोई बड़ी कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है. गुरुवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में ग्रेवाल ने आरोप लगाया कि चन्नी सरकार कांग्रेस विधायक परमिंदर सिंह पिंकी के खिलाफ दर्ज अवैध शराब के मामले को दबाने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि इस बात के पुख्ता सबूत होने के बावजूद कि पिंकी का साला हरजिंदर सिंह संघ अवैध शराब के कारोबार में शामिल था; अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

इसे भी पढ़ें:  जम्मू और कश्मीर में 2 अलग-अलग आतंकवाद विरोधी अभियानों में 4 आतंकवादी मारे गए

ग्रेवाल ने कहा कि इस मामले में हरजिंदर सिंह संघ के चालक ने 22 फरवरी 2021 को जांच एजेंसी ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) को दायर हलफनामे में स्पष्ट रूप से बताया है कि वह (चालक) हरजिंदर सिंह संघ के वाहन में शराब उठाता था. और उन स्‍थानों के नाम बताए जहां वह पहुंचाया करता था। हलफनामे में शराब के अवैध कारोबार से जुड़ी बैंक डिटेल की भी पूरी जानकारी दी गई है. इतने पुख्ता सबूत होने के बावजूद चन्नी सरकार जानबूझकर अपने विधायक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. ग्रेवाल ने कहा कि शराब माफियाओं पर चन्नी सरकार का पूरा आशीर्वाद है. उन्होंने कांग्रेस सरकार पर इस अवैध धंधे में लिप्त अधिकारियों को शराब माफिया के साथ बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार शराब माफिया में शामिल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय पदोन्नति देकर उनका सम्मान कर रही है.

इसे भी पढ़ें: ओवल टेस्ट में विराट कोहली और रवि शास्त्री नं॰1 फिर भी BCCI खफा क्यों?

ग्रेवाल ने चन्नी सरकार पर किसानों को फसलों के नुकसान के लिए दिए गए मुआवजे के साथ छेड़छाड़ करने का भी आरोप लगाया और बताया कि रु. पंजाब के फिरोजपुर के किसानों के बीच 12 करोड़ का मुआवजा बांटा जाना है. सरकार द्वारा तैयार की गई किसानों की सूची के मुताबिक जिन किसानों को यह मुआवजा दिया जा रहा है उनके पास एक इंच भी जमीन नहीं है. इस मुआवजे के हकदार किसानों के नाम भी सूची में शामिल नहीं हैं।

इसे भी पढ़ें:मैनकाइंड फार्मा और बीडीआर फार्मा एक साथ आए एंटी COVID-19 पिल Molulife लॉन्च करने के लिए

ग्रेवाल ने आरोप लगाया कि मुआवजा घोटाले पर आवाज उठाने वालों को धमकाया जा रहा है और कहा कि वरिंदर सिंह नाम के शख्स ने इस सब की जानकारी आरटीआई के तहत मांगी थी. लेकिन सरकार ने जानकारी देने के बजाय उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है, ताकि लोग डर के मारे चुप रहें. चन्नी सरकार अपने राजनीतिक फायदे के लिए पुलिस-प्रशासन और जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है. ग्रेवाल ने कहा कि कांग्रेस सरकार की माफिया और तस्करों के साथ मिलीभगत से पंजाब का माहौल खराब हुआ है और लोगों में डर का माहौल पैदा हो गया है. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अहबाब ग्रेवाल के साथ आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रवक्ता जगतार सिंह संघेरा, मलविंदर सिंह कांग और गोविंदर मित्तल भी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें: जम्मू और कश्मीर में 2 अलग-अलग आतंकवाद विरोधी अभियानों में 4 आतंकवादी मारे गए

इसे भी पढ़ें: शराबबंदी पर CM नीतीश कुमार ने बुलाई बैठक, लेकिन यह पुनर्विचार के लिए नहीं

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश लेखपाल जीके 2021 : लेखपाल परीक्षा होने में शामिल होने के लिए।

इसे भी पढ़ें:  IPO- बाध्य OYO ने अधिकृत शेयर पूंजी को बढ़ाकर 901 करोड़ रुपये कर दिया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button